About GITI

संस्थान का नाम: राजकीय औद्योगिक प्रषिक्षण संस्थान, बुलंदशहर

सेन्टर आफ एक्सीलेन्स योजना का संक्षिप्त परिचय

भारत सरकार के अधीनस्थ रोजगार एंव प्रषिक्षण महानिदेषालय, (डी0जी0ई0 एण्ड टी0) , नई दिल्ली द्वारा पब्लिक प्राईवेट पार्टनरषिप प्लान के अन्र्तगत सम्पूर्ण भारत में स्थापित आई0टी0आई0 में से कतिपय संस्थानों विष्व बैंक की सहायता से विकसित करने का निर्णय लिया था । जिसके अनुसार जनपद के राजकीय औद्योगिक प्रषिक्षण संस्थान, गुलावठी स्थित मौहाना बुलन्दषहर को चयनित कर विकसित किया जा रहा हैं ।

पब्लिक प्राईवेट पार्टनरषिप प्लान संस्थान को विकसित किए जाने हेतु जनपद स्तर पर राज्य एंव औद्योगिक संगठनों के सकारात्मक सहयोग हेतु 13 सदस्यीय इन्सटीट्यूट मेनेजमेन्ट कमेटी (आई0एम0सी0) का गठन किया गया । इस कमेटी में 04 सदस्य औद्योगिक प्रतिश्ठानों से , 01 सदस्य औद्योगिक संगठन से , 05 सदस्य राजकीय स्तर से एंव 01 सदस्य छात्र प्रतिनिधि नामित किया गया । यह आई0एम0सी0 रजिस्ट्रार आफ कम्पनीज एक्ट के अन्र्तगत सब रजिस्ट्रार आफ कम्पनीज,मेरठ क्षरा पंजीकृत हैं ।

उपरोक्त गठित आई0एम0सी0 में श्री बी0एम0अग्रवाल, प्रोप0 मैसर्स मोहर डेयरी एण्ड इण्डस्ट्रीज स्यानारोड, बुंलन्दषहर को अध्यक्ष नामित किया गया हैं एंव सस्थान प्रधानाचार्य सदस्य सचिव भी नामित है।

जनपद में इलेक्ट्रीकल क्षेत्र में रोजगारों के बहुसख्य अवसर को दृश्टिगत रखते हुए सी0ओ0ई0 अन्र्तगत इलेक्ट्रीकल व्यवसाय सेक्टर को विकसित करने का प्रस्ताव आई0एम0सी0 द्वारा किया गया ।

चयनित किए गये व्यवसाय / सेक्टर : इलेक्ट्रीकल

चयनित किए गये व्यवसाय इलेक्ट्रीकल को सी0ओ0ई0 अन्र्तगत लागू भारत सरकार (डीजीईएण्ड टी) द्वारा देष भर में लागू पाठ्यक्रम के अनुसार संस्थान में लागू कर वर्श 2009 से प्रषिक्षण प्रारम्भ किया जा चुका हैं । सी0ओ0ई0 अन्र्तगत लागू (डीजीईएण्ड टी) द्वारा लागू पाठ्यक्रम की मल्टी एण्ट्री एण्ड मल्टी एक्जिट व्यवस्था के अनुसार प्रषिक्षण दो वर्श की अवधि में 03 तीन चरणों में पूर्ण किया जाता हैं ।

1. प्रथम चरण: प्रषिक्षण के प्रथम वर्श / प्रथम चरण में ब्राड बेस्ड बैसिक ट्रेनिंग (बीबीबीटी) के निर्धारित छः बी0टी0 माडयूल्स का चक्रवार प्रषिक्षण प्रदान किए जाने का प्रावधान हैं। प्रषिक्षण की पूर्णता पर डीजीईएण्ड टी नई दिल्ली द्वारा अखिल भारतीय स्तर की व्यवसायिक परीक्षा माह अगस्त में आयोजित करायी जाती हैं ।

2. द्वितीय चरण: बीबीबीटी में प्रषिक्षण पूर्ण करने के उपरान्त प्रषिक्षण के द्वितीय वर्श में प्रषिक्षार्थियों को छः माह अवधि के एडवान्स माडयूल्स के निम्नवत तीन माडयूल्स में से किसी एक को चयन कर प्रषिक्षण प्राप्त करना होता हैं ।

1. म्।ज्.1 त्मचंपत - डंपदजमदंदबम व िक्वउमेजपब ।चचसपंदबमे
2 . म्।ज्.2 त्मचंपत - डंपदजमदंदबम व िप्देजतनउमदज नेमक पद म्समबजतपबंस म्दहपदममतपदह
3 . म्।ज्.5 त्मचंपत - डंपदजमदंदबम म्समबजतपबंस डंबीपदम - च्वूमत ैनचचसल
उक्त प्रषिक्षण की पूर्णता पर डीजीईएण्ड टी नई दिल्ली द्वारा अखिल भारतीय स्तर की व्यवसायिक परीक्षा प्रत्येक छःमाही पर माह फरवरी / अगस्त में आयोजित करायी जाती हैं ।

3. द्वितीय चरण: प्रथम वर्श में बीबीबीटी तथा द्वितीय वर्श में एडवान्स माडयूल्स में प्रषिक्षण पूर्ण करने के उपरान्त प्रषिक्षण के प्रषिक्षार्थियों को छः माह अवधि का आई0एम0सी0 स्तर पर निर्धारित स्पेषलाईजेषन माडयूल्स का प्रषिक्षण स्थानीय उद्योगों सहयोग प्राप्त कर प्रषिक्षण की व्यवस्था करते हुए पूर्ण कराया जाता हैं । उक्त प्रषिक्षण की पूर्णता पर आई0एम0सी0 स्तर पर परीक्षा आयोजित करायी जाती हैं ।

प्रवेष प्रक्रिया: 80: सीटों पर सी0ओ0ई0 अन्र्तगत अन्य व्यवसायों की भाॅति व्यावसायिक परीक्षा परिशद,उ0प्र0 लखनऊ द्वारा निर्धारित प्रक्रिया प्रवेष परीक्षा के आधार पर ही चयनित अभ्यार्थियों को प्रवेष प्रदान किया जाता हैं । अवषेश 20: सीटों पर आई0ेएम0सी0 स्तर पर प्रक्रिया पूर्ण करते हुए प्रवेष किए जाते हैं ।

षिषिक्षु प्रषिक्षण की व्यवस्था
प्रथम चरण में बीबीबीटी तथा द्वितीय चरण में एक एडवान्स माडयूल्स में सफल प्रषिक्षार्थियों को एक वर्श छःमाह ( ) वर्श) की अवधि का अप्रेन्टिस एक्ट-1961 के अन्र्तगत षिषिक्षु प्रषिक्षण पूर्ण कराये जाने का प्रावधान हैं ।

Notice Board

Press Release Click Here


Training in specialized modules mainly by the industry (The course curricula, duration etc will be designed in consultations with the IMC/local industry).




Access Links


Download Section